Translate

30 December, 2016

Soch sab ki

Soch sab ki ek jaisi ho ye to jaruri nahi,
khud ko khud ki khabar ho ye jaruri to nahi,
log karte to hai bin gyan (din-rat)prabhu ke sajde,
lekin unke sajdo me asar ho ye jaruri to nahi...

09 December, 2016

Everyone who is seriously involved in the pursuit of science becomes convinced that a spirit is manifest in the laws of the universe – a spirit vastly superior to that of man.
– Albert Einstein

02 December, 2016

Be Thankful

Be thankful for what you have; you'll end up having more. If you concentrate on what you don't have, you will never, ever have enough. 

Thankfulness & Gratitude

Thankfulness is the beginning of gratitude. Gratitude is the completion of thankfulness. Thankfulness may consist merely of words. Gratitude is shown in acts.

27 November, 2016

कर्ज चुकाया जा नहीं सकता

कर्ज चुकाया जा नहीं सकता हरदेव तेरे एहसानों का..
जीवन तूने सवार दिया लाखो करोडो इंसानो का ...
जो भी आया शरन मे तेरी उसको सच का पाठ पढाया....
हिन्दू मुसलिम सिख ईसाई  सबको तूने गले लगया
अहंकार को दुर किया प्यार नम्रता  का पाठ पढाया
अब दुनिया में गेर ना कोई तेरी कृपा से समझ में आया
पूर्ण आदर सतकार दिया तूने दर आये मेहमानो का
कर्ज चुकाया जा नहीं सकता हरदेव तेरे एहसानों का..

21 November, 2016

सलाम

"तेरे प्यार को, तेरी चाहत को सलाम,
तेरे चरणों में मिली, राहत को सलाम।

जिस प्यार से तूने,संवारी ये जिंदगी
ऐ मेरे सतगुरु तेरी इस, इनायत को सलाम"।

देखा ऐसे ही बन्द हो जाएगी इक दिन करन्सी सांसो की भी ।
और समय सीमा भी नहीं मिलेगी।
खरीद ले खुशियाँ कुछ मुफ्त की मुस्कानों से।
यही वो चीज है जो गायब नहीं होती कभी दुकानों से |

11 November, 2016

Path of Honesty

*The biggest advantage of walking on the path of Honesty is that, there is no crowd.....!*

*Enjoy the peaceful journey of life with almost no traffic....!!*

*Happyness @lways*

10 November, 2016

ऐसे ही बन्द हो जाएगी
.......इक दिन
करन्सी सांसो की भी ।
........और
समय सीमा भी नहीं मिलेगी।
......इसलिये
.
.
.
खरीद ले खुशियाँ कुछ
मुफ्त की मुस्कानों से I
यही वो चीज है जो
मिलती है आप जैसे इंसानों से ....

07 November, 2016

सफल इंसान

एक *"सफल"* इंसान वही कहलाता है, जो सफलता बाँटता है ।

एक दिन एक व्यक्ति ऑटो से रेलवे स्टेशन जा रहा था। ऑटो वाला बड़े आराम से ऑटो चला रहा था। एक कार अचानक ही पार्किंग से निकलकर रोड पर आ गयी। ऑटो चालक ने तेजी से ब्रेक लगाया और कार, ऑटो से टकराते टकराते बची।

कार चालक गुस्से में ऑटो वाले को ही भला-बुरा कहने लगा जबकि गलती कार- चालक की थी।

ऑटो चालक ने कार वाले की बातों पर गुस्सा नहीं किया और क्षमा माँगते  हुए आगे बढ़ गया।

ऑटो में बैठे व्यक्ति को कार वाले की हरकत पर गुस्सा आ रहा था ।

उसने ऑटो वाले से पूछा, "तुमने उस कार वाले को बिना कुछ कहे ऐसे ही क्यों जाने दिया? उसने तुम्हें भला-बुरा कहा जबकि गलती तो उसकी थी। हमारी किस्मत अच्छी है, नहीं तो उसकी वजह से हम अभी अस्पताल में होते।"

ऑटो वाले ने कहा, "साहब बहुत से लोग गार्बेज ट्रक (कूड़े का ट्रक) की तरह होते हैं। वे बहुत सारा कूड़ा अपने दिमाग में भरे हुए चलते हैं। जिन चीजों की जीवन में कोई ज़रूरत नहीं होती उनको मेहनत करके जोड़ते रहते हैं जैसे क्रोध, घृणा, चिंता, निराशा आदि। जब उनके दिमाग में इनका कूड़ा बहुत अधिक हो जाता है तो वे अपना बोझ हल्का करने के लिए इसे दूसरों पर फेंकने का मौका ढूँढ़ने लगते हैं।

इसलिए मैं ऐसे लोगों से दूरी बनाए रखता हूँ और उन्हें दूर से ही मुस्कराकर अलविदा कह देता हूँ। क्योंकि अगर उन जैसे लोगों द्वारा गिराया हुआ कूड़ा मैंने स्वीकार कर लिया तो मैं भी एक कूड़े का ट्रक बन जाऊँगा और अपने साथ साथ आसपास के लोगों पर भी वह कूड़ा गिराता रहूँगा।

मैं सोचता हूँ जिंदगी बहुत ख़ूबसूरत है इसलिए जो हमसे अच्छा व्यवहार करते हैं उन्हें धन्यवाद कहो और जो हमसे अच्छा व्यवहार नहीं करते उन्हें मुस्कुराकर माफ़ कर दो। हमें यह याद रखना चाहिए कि सभी मानसिक रोगी केवल अस्पताल में ही नहीं रहते हैं। कुछ हमारे आस-पास खुले में भी घूमते रहते हैं।"

*प्रकृति के नियम:*
यदि खेत में बीज न डाले जाएँ तो कुदरत उसे घास-फूस से भर देती है।

उसी तरह से यदि दिमाग में सकारात्मक विचार न भरें जाएँ तो नकारात्मक विचार अपनी जगह बना ही लेते हैं।
                               
*दूसरा नियम है*
जिसके पास जो होता है वह वही बाँटता है।

"सुखी" सुख बाँटता है,
"दु:खी" दुःख बाँटता है,
"ज्ञानी" ज्ञान बाँटता है,
"भ्रमित" भ्रम बाँटता है, और
"भयभीत" भय बाँटता है।

जो खुद डरा हुआ है, वह औरों को डराता है,
चमका हुआ चमकाता है।
बिलकुल इसी तरह एक *"सफल"* इंसान वही कहलाता है, जो सफलता बाँटता ह

😊