Search This Blog

19 October, 2017

सत्कर्म ही जीवन है

नदी का पानी मीठा होता है क्योंकि वो पानी देती रहती है।

सागर का पानी खारा होता है क्योंकि वो हमेशा लेता रहता है।

नाले का पानी हमेशा दुर्गंध देता है क्योंकि वो रूका हुआ होता है।

           यही जिंदगी है
देते रहोगे तो सबको मीठे लगोगे।
लेते रहोगे तो खारे लगोगे।और
अगर रुक गये तो सबको बेकार लगोगे।
    निष्कर्ष : सत्कर्म ही जीवन है

17 August, 2017

ज्ञान

ज्ञानाशिवाय भक्ती आंधळी आहे.
भक्तीशिवाय कर्म आंधळे आहे.
आणि ज्ञान, भक्ती व कर्म याशिवाय जीवन आंधळे आहे..............!          
ज्ञान हे पैशापेक्षा श्रेष्ठ आहे कारण पैशाचे रक्षण तुम्हाला करावे लागते; ज्ञान तुमचेच रक्षण करते.

13 April, 2017

What is spiritual spiritual journey?

I think a spiritual journey is not so much a journey of discovery. It's a journey of recovery. It's a journey of uncovering your own inner nature. It's already there. 
               -Billy Corgan

12 April, 2017

Dharm Wahi jo pyar sikhaye

Man and Joy

Man cannot live without joy; therefore when he is deprived of true spiritual joys it is necessary that he become addicted to carnal pleasures. 

         -Thomas Aquinas

सत्कर्म ही जीवन है

नदी का पानी मीठा होता है क्योंकि वो पानी देती रहती है। सागर का पानी खारा होता है क्योंकि वो हमेशा लेता रहता है। नाले का पानी हमेशा दुर्गंध...