बेहतरीन इंसान अपनी मीठी जुबान से ही जाना जाता है,,,, वरना अच्छी बातें तो दीवारों पर भी लिखी होती है...!

क्या बताएं यारो कैसा ये खुदा लगता है जिस्म से रूह तक ये ही बसा लगता है। जिनको मालूम नही उनके लिए कुछ न हो बेशक जिनको मालूम है उनको हर शख्स खुदा लगता है।

खर्च

प्रेम चाहिये तो समर्पण खर्च करना होगा। विश्वास चाहिये तो निष्ठा खर्च करनी होगी। साथ चाहिये तो समय खर्च करना होगा। किसने कहा रिश्ते मुफ्त मिलते हैं । मुफ्त तो हवा भी नहीं मिलती एक साँस भी तब आती है जब एक साँस छोड़ी जाती हे
कोई सानी नही तेरी रेहमतो के सागर का, तूने एतबार दिया इंसान पर इंसान का, धूल के कण भी न थे हम तेरी दुनिया के, माथे का चंदन बना दिया इस संसार का, कोई सजदा नही, तेरी याद का कोई फेरा नही, फिर भी साॅसे चल रही है, ये भरोसा है बस तेरे प्यार का... बस तेरे प्यार का...
छोटा बनके रहोगें तो, मिलेगी हर बड़ी रहमत दोस्तों बड़ा होने पर तो माँ भी, गोद से उतार देती है……..!! जिंदगी में बडी शिद्दत से निभाओ अपना किरदार, कि परदा गिरने के बाद भी तालीयाँ बजती रहे……!!!
जब बचपन था, तो जवानी एक ड्रीम था... जब जवान हुए, तो बचपन एक ज़माना था... !! जब घर में रहते थे, आज़ादी अच्छी लगती थी... आज आज़ादी है, फिर भी घर जाने की जल्दी रहती है... !! कभी होटल में जाना पिज़्ज़ा, बर्गर खाना पसंद था... आज घर पर आना और माँ के हाथ का खाना पसंद है... !!! स्कूल में जिनके साथ ज़गड़ते थे, आज उनको ही इंटरनेट पे तलाशते है... !! ख़ुशी किसमे होतीं है, ये पता अब चला है... बचपन क्या था, इसका एहसास अब हुआ है... काश बदल सकते हम ज़िंदगी के कुछ साल.. .काश जी सकते हम, ज़िंदगी फिर एक बार...!!
ऐ सतगुरू मेरे...
नज़रों को कुछ ऐसी खुदाई दे...
जिधर देखूँ उधर तू ही दिखाई दे...
कर दे ऐसी कृपा आज इस दास पे कि...
जब भी बैठूँ सिमरन में...
तेरी हर रेहमतो के सहारे हे जिन्दगी मेरी...
मेरी हर साँस मे हो इबादत तेरी...
कर क्रिपा तू ऐ दातार 
तेरे शब्दो पे निसार हो ज़िन्दगानी  मेरी...
छोटा बनके रहोगें तो, मिलेगी हर बड़ी रहमत दोस्तों
बड़ा होने पर तो माँ भी, गोद से उतार देती है……..!!
जिंदगी में बडी शिद्दत से निभाओ अपना किरदार,
कि परदा गिरने के बाद भी तालीयाँ बजती रहे……!!!

क्या बताएं यारो

क्या बताएं यारो कैसा ये खुदा  लगता है
जिस्म से रूह तक ये ही बसा लगता है।
जिनको मालूम नही उनके लिए कुछ न  हो बेशक
जिनको मालूम है उनको हर शख्स खुदा लगता है।
"उपवास करून जर
देव खूश होत असेल
तर या जगात कित्येक
दिवस उपाशी पोटी
असणारा भिखारी हा
सर्वात जास्त सुखी राहिला
असता."