60 drops from the ocean of grace HIS HOLINESS SADGURU BABA HARDEV SINGH JI MAHARAJ

60 drops from the ocean of grace HIS HOLINESS SADGURU BABA HARDEV SINGH JI MAHARAJ

1. To be human is to be Humble. To be humble is to be divine.

2. Truly great are those who Bloom even in the autumn of adversity.

3. युग सुन्दर, सदियां सुन्दर अगर मानव जीवन हो सुन्दर I

4.जब कोई जुकता है तो समझना चाहिए की वह ऊंचाई की तरफ जा रहा है I

5. Trials make a Devotee’s life better, not bitter.

6. They serve the best- who serve Silently like the Sun, the Moon, the air and the water.

7. धर्म है बस इन्सा होना, कोई और र्धर्म ईमान नही I

8. भक्त एक खिले हुये फूल की भांति होता है और भक्ति उसकी महक I

9. If you cannot be a candle, be a mirror that reflects Light.

10. God should be in our heart even when our hands are at work.

11. हर भाषा, हर देश के मानव अपने ही तो सारे है I

12. दूसरा तभी छोटा दिखता है जब हम उसे दूर से या ग़रूर से देखें I

13. Love is a lamp, save it from the hurricane of selfishness.

14. Knowing God is knowing Peace.

15.आदमी के बारे में, ये बात समझने वाली है, सर जितना भरा हुआ है दिल उतना ह़ी खाली है I

16. अगर किश्ती में सुराक हो तो वह डूबेगी ही, भले ही सागर शान्त हो या तूफान आ जाए I

17. The kingdom of Heaven is open to all, except the arrogant.

18. You cannot Brighten up your way by blowing out candles of others.

19. प्यार बटोरने के लिए नहीं बल्कि बांटने के लिए होता है I

20. भक्ति दिल का सौदा है, दिमाग का नहीं I

21. Our belief in God turns into Faith in God when we realize God.

22. Realization of the Formless is the key to living a blissful life.

23.ब्रह्म की प्राप्ति, भ्रम की समाप्तिI

24.जैसे भी ही परिस्थिति, रहे एक सी मनोस्थिति I

25. Plant love in the Heart to remove pollution from the mind.

26. When the pond of life is all muddy and rough, Hope says no darkness is dark enough.

27.प्यार सजाता है गुलशन को और नफरत वीरान करे I

28. धर्म परिवर्तन नहीं भावना परिवतन जरूरी है I

29. When care goes beyond walls, Love Blossoms hatred falls.

30. Important are those who give Importance to God and Love.

31.ज्ञान की दृष्टि ह़ी है, इस सृष्टि में समदृष्टि I

32. पीड़ा हरना, न कि पीड़ा देना धर्म की परिभाषा है I

33. Spirituality provides a road map for peace.

34. Your availability is more important than your Ability.

35.मानव हो मानव को प्यारा, इक दूजे का बनें सहारा I

36. सच्चे सेवक सेवा को किसी दायरे में नहीं बांधते

37. Evading the ripples of ego and prejudice, Humility becomes a never-ending practice.

38. Pride destroys the merits of Service.

39. परमात्मा अचल है, इसके एहसास से मन को भी ठहराव मिलता है I

40. अति सूक्ष्म निराकार को ज्ञान की निगाह से देखा जा सकता है I

41. Peace not pieces. let us work for it.

42. Association with a saint is a pilgrimage.

43.कुछ भी बनो मुभारक है, पर पहले इनसान बनो I

44. सागर के सामने रहना ह़ी, बूंद को बूंद होने का एहसास दिलाता है I

45. Love is living. If you cease to love, you cease to live.

46. Greatness is the virtue of knowledge, not age.

47. एक को जानो, एक को मानो, एक हो जाओ I

48.केवल चलने से प्रगति नहीं होता, दिशा भी देखनी पड़ती है I

49. If there is love in our heart it is reflected in our word and deed.

50. There is no religion greater than perceiving God face to face.

51.खुशहाल ये दुनिया हो सकती है, अगर दूर दिलों से दूरी हो I

52. जब सूर्य की जाति नहीं तो उसकी किरणों की जाति कैसे हो सकती है I

53. God consciousness is God remembrance.

54. Tolerance is all we need for peaceful co-existence.

55.जहां अहंकार है निरंकार नहीं I

56.धर्म जोड़ता है, तोड़ता नहीं I

57. Blissfulness is not a phase but a state of mind.

58. Let’s value Human values.

59. मानव की कद्र दिल से, मानवता खिल उठे फिर से

60. एक उम्र भी कम है मोहब्बत के लिए, लोग वक्त कहाँ से निकाल लेते हैं नफरत के लिए I

Eternal Universe

The reason why the universe is eternal is that it does not live for itself; it gives life to others as it transforms.

"बुराई " करना रोमिंग की तरह है.
करो तो भी चार्ज लगता है और सुनो तो भी चार्ज लगता है.

                    और...

    "नेकी" करना LIC की तरह है.

              जिंदगी के साथ भी.
            जिंदगी के बाद भी

तो "धर्म" की प्रीमियम भरते रहो
और अच्छे कर्म का "बोनस" पाते रहो......।

खुदा का ठिकाना

ये ना बस्ती में रहता हें ना बिरनो में राहता हें
ये ना काबा मैरहता हें भूतखनो मै रहता हें
खुदा को धुढने वाले नही जानते साखी खुदा आजकल अपने दिवनो मै रहता है।

शुक्रिया

ए गुरुबचन के प्यारो, इस प्यार का है वास्ता
जो कर गए है, एक एक एहसान का है वास्ता
उस त्याग कि कसम, है बलिदान का है वास्ता
कुर्बान कर गए जो, उस प्राण का है वास्ता
भुले से ना भुले, ये उपकार गुरुबचन का

दिल करता है शुक्रिया बार  बार बार  गुरुबचन का......

If you

If you use your mind to study reality, you won't understand either your mind or reality. If you study reality without using your mind, you'll understand both.

सीखने वाली बात

एक बुज़ुर्ग से किसी ने पूछा, "कुछ नसीहत कर दीजिये"।
उन्होंने अजीब सवाल किया, "कभी बर्तन धोये हैं?"
उस शख्श ने हैरान होकर जवाब दिया, "जी धोये हैं"
बुजुर्ग ने पूछा, "क्या सीखा?
उस शख्श ने कहा, "इसमें सीखने वाली बात क्या है?"
बुज़ुर्ग ने मुस्कुराकर जवाब दिया,
"बर्तन को बाहर से कम
अन्दर से ज़्यादा धोना पड़ता है"।
,,,,,,,,,,
हम भी शरीर को धोने में लगे हुए है ।
मन को कब धोएंगे?

As long as we

As long as we believe ourselves to be even the least different from God, fear remains with us; but when we know ourselves to be the One, fear goes; of what can we be afraid?

Bhakti ka sukh

जाति नहीं होती बड़ी ,न ही बड़ा है धर्म|
बड़ा वही इस जगत में,जिसका ऊँचा कर्म||
ग्यान कर्म में ढल जाने से परमात्मा निरंकार की किरपा का आभास होने लगता है और जीवन सरल हो जाता है
भक्ति का सुख मिलना चालू हो जाता है

दर्पण × मन

दर्पण जब चेहरे का दाग दिखाता है, तब हम दर्पण नहीं तोडते बल्कि दाग साफ करते हैं।

उसी प्रकार हमारी कमी बताने वाले पर क्रोध करने के बजाय कमी दूर करना श्रेष्ठ है..!!
धन निरंकार जी!

मै इस काबिल तो नही

"मै इस काबिल तो नही,
कि मेरी पहचान हो,

"मै इस काबिल भी नही,
कि दुनिया मे मेरा नाम हो,

"मै तो दीवाना हूँ ,
बस तेरे चरणों का,

"आरजू है बस ,
मेरे दिल की यही कि,

"तेरे चरणों मे ,
मेरी ज़िंदगी तमाम हो.